Google Workspace (मुफ़्त वर्शन) कानूनी समझौता

Google ने 6 दिसंबर, 2012 से पहले तक, G Suite के मुफ़्त वर्शन की सुविधा दी थी. इसे Google Apps के पुराने मुफ़्त वर्शन के नाम से भी जाना जाता है. इस वर्शन में कारोबार के लिहाज़ से काम आने वाली सुविधाएं कम थीं. Google ने 6 दिसंबर, 2012 के बाद, नए ग्राहकों को मुफ़्त वर्शन की सुविधा देना बंद कर दिया.

मौजूदा Google Workspace की सेवा की शर्तोंपर जाएं
मौजूदा Google Workspace for Education की सेवा की शर्तोंपर जाएं

यह Google Workspace (मुफ़्त वर्शन) कानूनी समझौता ("कानूनी समझौता"), Google LLC. जो Delaware corporation के तहत आने वाली कंपनी है और जिसके ऑफ़िस का पता, 1600 Amphitheatre Parkway, Mountain View, California 94043 ("Google") है और यहां बताई गई शर्तों से सहमत होने वाली इकाई ("ग्राहक") के बीच किया गया है. यह कानूनी समझौता, सेवाओं तक ग्राहक के ऐक्सेस और उनके इस्तेमाल को कंट्रोल करता है. यह लागू होने की तारीख से लागू होगा. यह कानूनी समझौता, नीचे दिए गए "मुझे स्वीकार है" बटन पर ग्राहक के क्लिक करने की तारीख ("लागू होने की तारीख") से लागू हो जाता है. अगर आप ग्राहक की ओर से यह कानूनी समझौता स्वीकार कर रहे हैं, तो आप इस बात का प्रतिनिधित्व और समर्थन करते हैं कि: (i) आपके पास उस कंपनी या लागू इकाई को इन नियमों और शर्तों से बाध्य करने के सभी कानूनी अधिकार हैं जिससे आप जुड़े हुए हैं; (ii) आपने यह कानूनी समझौता पढ़ और समझ लिया है; और (iii) आप इस कानूनी समझौते पर उस पक्ष की ओर से सहमति देते हैं जिसका आप प्रतिनिधित्व करते हैं. अगर आपके पास ग्राहक को इस कानूनी समझौते से बाध्य करने के कानूनी अधिकार नहीं हैं, तो कृपया नीचे दिए गए "मुझे स्वीकार है" बटन पर क्लिक न करें. यह कानूनी समझौता, सेवाओं तक ग्राहक के ऐक्सेस और उसके इस्तेमाल को कंट्रोल करता है.

  • 1. सेवाएं.
    • 1.1 सुविधाएं और डेटा ट्रांसफ़र. ग्राहक के डेटा को स्टोर और प्रोसेस करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सभी सुविधाएं, उचित सुरक्षा मानकों के मुताबिक होनी चाहिए. सुरक्षा के ये मानक किसी भी स्थिति में, उन सुविधाओं के लिए बने सुरक्षा मानकों से कम नहीं होने चाहिए जहां Google अपनी इसी तरह की जानकारी को स्टोर और प्रोसेस करता है. Google ने उद्योग लेवल के मानक सिस्टम और प्रक्रियाओं को लागू किया है, ताकि ग्राहक का डेटा सुरक्षित रहे और डेटा की गोपनीयता बनी रहे. इन सिस्टम और प्रक्रियाओं से, ग्राहक के डेटा को सुरक्षित रखने और रखरखाव के दौरान होने वाले संभावित खतरों और आंशकाओं से भी बचा जा सकता है. साथ ही, बिना अनुमति के ग्राहक के डेटा को ऐक्सेस या इस्तेमाल करने के मामलों से भी बचा जा सकता है. सेवाएं मुहैया कराने के दौरान, Google, ग्राहक के डेटा को अमेरिका या ऐसे किसी भी देश में ट्रांसफ़र, स्टोर, और प्रोसेस कर सकता है जहां Google या इसके एजेंट डेटा स्टोर करने की सुविधाओं को चलाते और उनका रखरखाव करते हों. इन सेवाओं का इस्तेमाल करके, ग्राहक अपने डेटा को ट्रांसफ़र, स्टोर, और प्रोसेस करने की सहमति देता है.
    • 1.2 बदलाव.
      • a. सेवाओं के लिए. Google के पास यह अधिकार रहेगा कि वह बिना सूचना के किसी भी समय, सेवा के किसी भी हिस्से को बदल, निलंबित या बंद कर सकता है. अगर Google, सेवाओं में कोई महत्वपूर्ण बदलाव करता है, तो Google ग्राहक को सूचित करेगा, बशर्ते ग्राहक ने इस तरह के बदलाव के बारे में सूचित किए जाने के लिए, Google की सदस्यता ली हो.
      • इस कानूनी समझौते के लिए. Google के पास अधिकार है कि वह किसी भी समय इस कानूनी समझौते में नियम और शर्तों को बदल दे या फिर नियम और शर्तों में बदलाव कर दे. इसके अलावा, Google यह भी अधिकार रखता है कि वह किसी भी समय, सेवा को कंट्रोल करने वाली नीति में बदलाव कर दे. इसके लिए, Google, https://workspace.google.com/intl/hi/terms/standard_terms.html पर नया कानूनी समझौता पोस्ट करेगा या फिर इसी तरह का कोई यूआरएल उपलब्ध करवाएगा. इस कानूनी समझौते में होने वाले किसी भी अपडेट की नियमित रूप से समीक्षा करने के लिए, ग्राहक ज़िम्मेदार है. इस कानूनी समझौते में होने वाले किसी भी बदलाव या संशोधन से, (i) अपडेट की गई शर्तों के लिए ग्राहक की ऑनलाइन अनुमति, (ii) Google की मदद से ऐसी शर्तों को अपडेट करने के बाद ग्राहक लगातार सेवाओं का इस्तेमाल करने के लिए, बाध्य होगा.
    • 1.3 ग्राहक के डोमेन नाम का मालिकाना हक. सेवाएं देने से पहले, Google यह पुष्टि कर सकता है कि ग्राहक के पास ग्राहक डोमेन नाम का मालिकाना हक है या उस पर कंट्रोल है. अगर ग्राहक के पास ग्राहक डोमेन नाम का मालिकाना हक नहीं है या उस पर कंट्रोल नहीं है, तो Google, ग्राहक को सेवाएं देने के लिए जवाबदेह नहीं होगा.
    • 1.4 विज्ञापन. ग्राहक सहमति देता है कि Google, सेवा से जुड़े विज्ञापनों को भी दिखा सकता है.
  • 2. ग्राहक की जवाबदेही.
    • 2.1 अनुपालन. ग्राहक, उचित इस्तेमाल की नीति के अनुसार सेवाओं का इस्तेमाल करेगा. Google, समय-समय पर उपलब्ध सेवाओं के लिए नए ऐप्लिकेशन, सुविधाएं या फ़ंक्शन बना सकता है, जिनका इस्तेमाल अन्य शर्तों के लिए ग्राहक के कानूनी समझौते पर निर्भर हो सकता है. इसके अलावा, Google, गैर-Google Workspace प्रॉडक्ट की शर्तों और प्रॉडक्ट पर लागू Google की खास सेवा की शर्तों के हिसाब से, ग्राहक और उसके असली उपयोगकर्ताओं को गैर-Google Workspace के प्रॉडक्ट (सेवाओं से बाहर) उपलब्ध कराएगा. अगर ग्राहक, गैर-Google Workspace के किसी भी प्रॉडक्ट को चालू नहीं करना चाहता है, तो वह उन्हें किसी भी समय Admin Console में जाकर चालू या बंद कर सकता है.
    • 2.2 सेवाओं का ग्राहक एडमिन. ग्राहक, Admin console में जाकर एक या ज़्यादा ऐसे एडमिन तय कर सकता है जिनके पास एडमिन खाते (खातों) को ऐक्सेस करने और असली उपयोगकर्ता खाते को व्यवस्थित करने के अधिकार होंगे. ग्राहक इनके लिए ज़िम्मेदार है: (a) पासवर्ड और एडमिन खाते (खातों) की गोपनीयता बनाए रखना; (b) ऐसे व्यक्तियों को शामिल करना जिनके पास एडमिन खाते (खातों) को ऐक्सेस करने की मंज़ूरी हो; और (c) तय करना कि एडमिन खाते (खातों) के संबंध में होने वाली सभी गतिविधियां कानूनी समझौते का पालन करें. ग्राहक सहमति देता है कि Google की ज़िम्मेदारी ग्राहक के लिए सेवाओं को मैनेज करने या एडमिन तक नहीं है और यह कि Google सिर्फ़ एक डेटा-प्रोसेसर है. ग्राहक सहमति देता है कि असली उपयोगकर्ता अपने खास असली उपयोगकर्ता खातों में इस्तेमाल के लिए, Google Workspace Marketplace से तीसरे पक्ष के ऐप्लिकेशन (दूसरे नियम और शर्तों के अधीन) जोड़ या खरीद सकते हैं.
    • 2.3 उपनाम. ग्राहक, ग्राहक डोमेन नाम के "गलत इस्तेमाल" और "पोस्टमास्टर" उपनामों को भेजे जाने वाले ईमेल की निगरानी करने, उन्हें जवाब देने या फिर प्रोसेस करने के लिए ज़िम्मेदार है, लेकिन Google, ग्राहक डोमेन नाम के इन उपनामों को भेजे गए ईमेल की निगरानी कर सकता है, ताकि वो सेवाओं के गलत इस्तेमाल की निगरानी कर सके.
    • 2.4 असली उपयोगकर्ता की सहमति. ग्राहक के एडमिन के पास असली उपयोगकर्ता खातों के अंदर असली उपयोगकर्ताओं के लिए, मौजूद डेटा का ऐक्सेस, निगरानी, इस्तेमाल या ज़ाहिर करने की सुविधा हो सकती है. ग्राहक इन चीज़ों की अनुमति देने के लिए असली उपयोगकर्ताओं से सभी ज़रूरी सहमति लेगा और उन्हें बनाए रखेगा: (1) इस डेटा तक ग्राहक को ऐक्सेस, निगरानी, इस्तेमाल और ज़ाहिर करने के लिए Google, ग्राहक को यह सब करने की सुविधा देगा और (2) Google को सेवाएं मुहैया करने की अनुमति देगा.
    • 2.5 बिना अनुमति के इस्तेमाल. ग्राहक, सेवाओं का इस्तेमाल बिना अनुमति के करने से रोकने के लिए और बिना किसी अनुमति के इस्तेमाल को खत्म करने के लिए, कारोबार के नज़रिये से ऐसी सभी कोशिशें करेगा जो सही हों. ग्राहक, सेवाओं के बिना किसी अनुमति के इस्तेमाल या उसके ऐक्सेस के बारे में Google को फ़ौरन सूचित करेगा, जिसके बारे में उसे पता चलता है.
    • 2.6 इस्तेमाल पर प्रतिबंध. जब तक Google खास तौर पर लिखित में सहमति नहीं देता है, ग्राहक ये नहीं करेगा और कारोबार के नज़रिये से सही कोशिश करेगा कि कोई तीसरा पक्ष ये न करें: (a) किसी तीसरे पक्ष को सेवाओं का बेचना, फिर से बेचना, लीज़ पर देना या कोई मिलता-जुलता काम करना (जब तक इस कानूनी समझौते में साफ़ तौर पर मंज़ूरी न मिली हो); (b) सेवाओं या किसी कॉम्पोनेंट को रिवर्स इंजीनियर करने की कोशिश करना; (c) सेवाओं के इस्तेमाल या उन तक ऐक्सेस के वैकल्पिक या उसी तरह की सेवा बनाने की कोशिश करना; (d) ज़्यादा जोखिम वाली गतिविधियों के लिए सेवाओं का इस्तेमाल करना; या (e) एक्सपोर्ट कंट्रोल कानून के तहत एक्सपोर्ट करने के लिए, कंट्रोल की गई किसी भी ग्राहक डेटा को स्टोर या ट्रांसफ़र करने के लिए सेवाओं का इस्तेमाल करना. हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी एंड अकाउंटेबिलिटी ऐक्ट (हिपा) के साथ किसी भी लागू अनुपालन के लिए पूरी तरह से ग्राहक ज़िम्मेदार है.
    • 2.7 तीसरे पक्ष के अनुरोध. ग्राहक, तीसरे पक्ष के अनुरोधों का जवाब देने के लिए ज़िम्मेदार है. Google, तीसरे पक्ष के अनुरोध की अनुमति को शर्तों और कानून के मुताबिक की ज़्यादा से ज़्यादा सीमा तक: (a) ग्राहक को उसे मिले हुए तीसरे पक्ष के अनुरोध की सूचना तुरंत देगा; (b) तीसरे पक्ष के अनुरोध का विरोध करने की कोशिश के संबंध में ग्राहक के उचित अनुरोधों का पालन करेगा; और (c) ग्राहक को तीसरे पक्ष के अनुरोध को जवाब देने के लिए ग्राहक को ज़रूरी सूचना या टूल उपलब्ध कराएगा. ग्राहक, सबसे पहले तीसरे पक्ष के अनुरोध का जवाब देने के लिए ज़रूरी जानकारी हासिल करने की कोशिश करेगा और Google से सिर्फ़ तब संपर्क करेगा, अगर वो उचित तौर पर ऐसी सूचना नहीं खोज पाएगा.
    • 2.8 उपयोग की नीति और सीमाएं. ग्राहक के पास एक असली उपयोगकर्ता खाते की अनुमति है. ग्राहक, सेवा के इस्तेमाल के संबंध में Google की ओर से समय-समय पर लगाई गई किसी भी अतिरिक्त उपयोग नीति और सीमाओं का अनुपालन करेगा.
    • 2.9 असली उपयोगकर्ता. ग्राहक सहमत है कि असली उपयोगकर्ता, उचित इस्तेमाल की नीति और इस कानूनी समझौते के किसी भी अन्य लागू प्रावधानों का अनुपालन करेगा.
  • 3. शुल्क. ग्राहक को सेवा मुफ़्त दी जाती है, बशर्ते ग्राहक सहमति दे कि Google, (a) ग्राहक को या उसके असली उपयोगकर्ताओं को मुफ़्त में अतिरिक्त वैकल्पिक सेवाएं ऑफ़र कर सकता है या (b) सेवा के प्रीमियम वर्शन को मुफ़्त में ऑफ़र कर सकता है. Google, सेवा के मुफ़्त वर्शन को किसी भी समय, बंद कर सकता है और सिर्फ़ प्रीमियम वर्शन ऑफ़र कर सकता है. ऐसी स्थिति में, Google इस कानूनी समझौते के सेक्शन 10 के तहत सूचना देगा और ग्राहक के पास इसे प्रीमियम वर्शन में बदलने का अवसर होगा.
  • 4. तकनीकी सहायता सेवाएं. ग्राहक या उसके असली उपयोगकर्ताओं को सेवाओं के इस्तेमाल के संबंध में, असली उपयोगकर्ताओं या अन्य तीसरे पक्षों के किसी भी सवालों और शिकायतों का जवाब देने के लिए ग्राहक ज़िम्मेदार है. Google, ग्राहकों और उसके असली उपयोगकर्ताओं को सहायता केंद्र उपलब्ध कराएगा.
  • 5. निलंबन.
    • 5.1 Google की ओर से असली उपयोगकर्ता खाते का निलंबन अगर Google को पता चलता है कि असली उपयोगकर्ता ने कानूनी समझौते का उल्लंघन किया है, तो Google खास तौर पर अनुरोध कर सकता है कि ग्राहक, लागू असली उपयोगकर्ता खाते को निलंबित कर दे. अगर ग्राहक, असली उपयोगकर्ता खाते को निलंबित करने के Google के अनुरोध का पालन करने में सफल नहीं होता, तो Google ऐसा कर सकता है. Google की ओर से किए जाने वाले किसी भी निलंबन की अवधि तब तक लागू रहेगी, जब तक कि असली उपयोगकर्ता, उन वजहों को ठीक नहीं कर देता जिनकी वजह से निलंबन हुआ था.
    • 5.2 आपातकालीन समय में सुरक्षा से जुड़ी समस्याएं. ऊपर बताई गई शर्तों के बावजूद, अगर आपातकालीन समय में सुरक्षा से जुड़ी कोई समस्या हो, तो Google, उल्लंघन करने वाले इस्तेमाल को अपने-आप निलंबित कर सकता है. निलंबन, आपातकालीन समय में सुरक्षा से जुड़ी समस्या को रोकने या खत्म करने के लिए, कम से कम सीमा और कम से कम समय के लिए ज़रूरी होगा.
  • 6. गोपनीय जानकारी.
    • 6.1 जवाबदेही. हर पक्ष: (a) अन्य पक्ष की गोपनीय जानकारी का ध्यान, उन ही सुरक्षा मानकों से करेगा जिनसे वह अपनी गोपनीय जानकारी की सुरक्षा करता है; और (b) ऐसे सहयोगियों, कर्मचारियों, और एजेंट जिन्हें उसे जानने की ज़रूरत होती है और जो इसे गोपनीय रखने के लिए लिखित तौर पर सहमत हो चुके हों, इनके अलावा किसी के सामने गोपनीय जानकारी नहीं देगा. हर पक्ष (और ऐसे कोई भी सहयोगी, कर्मचारियों और एजेंट जिनसे इस गोपनीय जानकारी को साझा किया गया है) इस गोपनीय जानकारी का इस्तेमाल, उसकी सुरक्षा का ध्यान रखकर इस्तेमाल करते हुए, सिर्फ़ इस कानूनी समझौते के अंदर आने वाले अधिकारों का इस्तेमाल करने और जवाबदेही को पूरा करने के लिए कर सकता है. हर पक्ष इस सेक्शन के उल्लंघन करने वाले इसके सहयोगी, कर्मचारियों, और एजेंट के किसी भी कार्रवाई के लिए ज़िम्मेदार है.
    • 6.2 अपवाद. गोपनीय जानकारी में ऐसी जानकारी शामिल नहीं होती जो: (a) गोपनीय जानकारी पाने वाले को पहले से पता थी; (b) पाने वाले की गलती के बिना सार्वजनिक हो जाती है; (c) पाने वाले की ओर से स्वतंत्र तौर पर तैयार की थी; या (d) किसी अन्य पक्ष से पाने वाले को सही तरीके से दी गई थी.
    • 6.3 ज़रूरी जानकारी ज़ाहिर करना. कानूनी रूप से ज़रूरी होने पर, हर पक्ष दूसरे पक्ष की गोपनीय जानकारी का ज़ाहिर कर सकता है, लेकिन सिर्फ़ तब, जब कानूनी अनुमति हो: (a) दूसरे पक्ष को सूचना देने के लिए कारोबार के नज़रिये से सही कोशिश करता हो; और (b) दूसरे पक्ष को इसे ज़ाहिर करने की चुनौती देने का मौका देता हो.
  • 7. बौद्धिक संपत्ति के अधिकार; ब्रैंड सुविधाएं.
    • 7.1 बौद्धिक संपत्ति के अधिकार. कानूनी समझौते में साफ़ तौर पर बताए गए को छोड़कर, यह कानूनी समझौता किसी भी पक्ष को, दूसरे पक्ष के कॉन्टेंट या उसकी किसी भी बौद्धिक संपत्ति का, निहित अथवा अन्यथा, कोई भी अधिकार नहीं देता है. पक्षों के बीच में, ग्राहक के डेटा में बौद्धिक संपत्ति के सभी अधिकार ग्राहक के पास बरकरार रहते हैं और सेवाओं में बौद्धिक संपत्ति के सभी अधिकार Google के पास बरकरार रहते हैं.
    • 7.2 ब्रैंड सुविधाएं दिखाना. Google, ग्राहक के अधिकार के तहत उन ग्राहक ब्रैंड सुविधाओं को (ऐसा अधिकार, सेवाओं में अपनी ब्रैंड सुविधाएं अपलोड करने वाले ग्राहक को दिया जाता है) सेवा पेज के शामिल क्षेत्रों में दिखा सकता है. ग्राहक Admin Console में जाकर, इस इस्तेमाल की प्रकृति तय कर सकता है. Google, सेवा पेज पर अपनी ब्रैंड सुविधाओं को भी दिखा सकता है कि Google ये सेवाएं देता है. कोई भी पक्ष, दूसरे पक्ष की पहले से लिखित सहमति के बिना अन्य पक्ष की ब्रैंड सुविधाओं को, इस कानूनी समझौते की तय सीमा के बाहर नहीं दिखा सकता या इस्तेमाल नहीं कर सकता.
    • 7.3 ब्रैंड सुविधाओं की सीमा. किसी पक्ष की ब्रैंड सुविधाओं का कोई भी इस्तेमाल, उस पक्ष के फ़ायदे के लिए किया जाएगा जिसके पास उन ब्रैंड सुविधाओं के बौद्धिक संपत्ति के अधिकार हैं. इस कानूनी समझौते के मुताबिक एक पक्ष दूसरे पक्ष को लिखित सूचना देकर और इस्तेमाल करने से रोकने के लिए उचित समय देकर, दूसरे पक्ष के ज़रिए अपनी ब्रैंड सुविधाओं के इस्तेमाल को निरस्त कर सकता है.
  • 8. प्रचार. ग्राहक सहमति देता है कि Google, ग्राहकों की सूची में, ऑनलाइन या प्रचार सामग्री के लिए ग्राहक का नाम या ब्रैंड सुविधाओं को शामिल कर सकता है. ग्राहक यह भी सहमति देता है कि Google, बोलकर ग्राहक को Google के प्रॉडक्ट या सेवाओं के ग्राहक के तौर पर रेफ़रंस दे सकता है, जो कानूनी समझौते के अधीन हैं. यह सेक्शन, सेक्शन 7.3 (ब्रैंड सुविधाओं की सीमा) के अधीन आता है.
  • 9. प्रतिनिधि बनना, समर्थन करना, और खंंडन करना.
    • 9.1 प्रतिनिधि बनना और समर्थन करना. हर पक्ष यह दर्शाता है कि उसके पास कानूनी समझौते में शामिल होने का पूरा अधिकार और अनुमति है. हर पक्ष यह वारंटी देता है कि वह सेवाओं के इस्तेमाल या प्रावधान पर लागू होने वाले सभी कानूनों और नियमों (इसमें लागू होने योग्य सुरक्षा उल्लंघन की सूचना कानून भी शामिल है) का पालन करेगा, भले ही यह कैसे भी लागू हो.
    • 9.2 खंंडन करना. लागू कानून की ओर से पूरी सीमा तक, यहां साफ़ तौर पर दिए गए कानूनी समझौते को छोड़कर, कोई भी पक्ष किसी तरह की वारंटी नहीं देता है, चाहे साफ़तौर पर, कानूनी या किसी और तरीके से हो, इसमें कारोबार के शामिल होने की बिना किसी सीमा के वारंटी, किसी खास तरह के इस्तेमाल के लिए दुरुस्ती और गैर-उल्लंघन की वारंटी भी शामिल है. GOOGLE, सेवाओं के ज़रिए या उनके माध्यम से ऐक्सेस किए जा सकने वाले किसी भी कॉन्टेंट या जानकारी के बारे में कोई भी प्रतिनिधित्व नहीं करता. ग्राहक स्वीकार करता है कि सेवाएं, TELEPHONY सेवा नहीं हैं और यह कि सेवाएं सार्वजनिक रूप से स्विच किए गए TELEPHONY नेटवर्क पर, आपातकालीन सेवाएं कॉल सहित, कोई भी कॉल नहीं कर सकती या कॉल पा नहीं सकती.
  • 10. खात्मा.
    • 10.1 ग्राहक की ओर से. ग्राहक, सेवाओं का इस्तेमाल करना कभी भी बंद कर सकता है.
    • 10.2 Google की पेशकश. ग्राहक सहमति देता है कि Google किसी भी समय, किसी भी वजह से यह कानूनी समझौता खत्म कर सकता है और/या सेवा के सभी या कुछ हिस्से के प्रावधान को खत्म कर सकता है. पहले जो बताया गया है उसके बावजूद, सेवा को खत्म या निलंबित करने से पहले, Google ग्राहक को कम से कम तीस (30) दिनों का नोटिस देगा; लेकिन अगर (i) ग्राहक ने इस कानूनी समझौते को तोड़ा हो या (ii) Google उचित रूप से पता कर लेता है कि लागू कानून के तहत सेवा देते रहना कारोबार के लिहाज़ अव्यावहारिक है, तो सेवा को तुरंत खत्म कर सकता है.
    • 10.3 समझौते को खत्म करने के प्रभाव. अगर यह कानूनी समझौता खत्म हो जाता है, तो: (i) एक पक्ष का दूसरे पक्ष को दिए गए अधिकार तुरंत (इस सेक्शन में दिए गए को छोड़कर) खत्म हो जाएंगे; (ii) Google, ग्राहक को कारोबार के नज़रिये से सही समय के लिए ग्राहक डेटा को ऐक्सेस और एक्सपोर्ट करने की सुविधा देता है और (iii) कारोबार के नज़रिये से सही समय के बाद, Google, ग्राहक के डेटा को Google के काम करने वाले सर्वर पर पॉइंटर हटाकर और समय के साथ उसे ओवरराइट करके मिटा देगा.
  • 11. नुकसान की भरपाई. ग्राहक, किसी तीसरे पक्ष के इन दावों की वजह से सभी कानूनी जवाबदेही, नुकसान, और कीमतों (जिसमें सेटलमेंट की कीमत और वकील की उचित फ़ीस शामिल हैं) से Google को होने वाले नुकसान की भरपाई करेगा, उसे बचाएगा, और होने वाले किसी भी नुकसान से बचाएगा (i) ग्राहक के डेटा या ग्राहक डोमेन नाम के संबंध में; (ii) ग्राहक ब्रैंड सुविधाएं, जो किसी तीसरे पक्ष के पेटेंट, कॉपीराइट, कारोबारी गोपनीयता की सुरक्षा या ट्रेडमार्क का उल्लंघन या उनका दुरुपयोग करती हैं; या (iii) उचित इस्तेमाल की नीति के उल्लंघन में ग्राहक के सेवाओं के इस्तेमाल के संबंध में. नुकसान की भरपाई मांग करने वाला पक्ष, तुरंत दूसरे पक्ष को दावे के बारे में सूचित करेगा और दावे का बचाव करने में दूसरे पक्ष के साथ सहयोग करेगा. नुकसान की भरपाई करने वाले पक्ष के पास, इन स्थितियों को छोड़कर, बचाव का पूरा कंट्रोल और अधिकार होगा: (a) ऐसे किसी भी सेटलमेंट की स्थिति में जिसमें नुकसान की भरपाई करने वाले पक्ष को जवाबदेही स्वीकार करनी हो या कोई पैसा चुकाना हो, तो उस पक्ष की पहले से लिखित सहमति ज़रूरी होगी, और ऐसी सहमति बिना किसी वजह रोकी नहीं जाएगी और न ही उसमें कोई देरी की जाएगी और (b) दूसरा पक्ष खुद अपने खर्च पर अपने सलाहकार के साथ इस बचाव में शामिल हो सकता है.
  • 12. जवाबदेही की सीमा.
    • 12.1 इनडायरेक्ट जवाबदेही की सीमा. इस कानूनी समझौते के तहत कोई भी पक्ष, आय में होने वाले नुकसान या सीधे पता न चलने वाले, विशेष, अचानक होने वाले, नतीजतन, मिसाल या दंड के तौर पर हुए हर्जाने के लिए जवाबदेह नहीं होगा, फिर चाहे पक्ष को जानकारी थी या जानकारी होनी चाहिए थी कि नुकसान की आशंका है और तब भी, जब सीधे तौर पर नुकसान से कोई राहत मिलती नहीं दिख रही है.
    • 12.2 जवाबदेही की रकम की सीमा. इस कानूनी समझौते के तहत आने वाले किसी भी पक्ष को एक हज़ार डॉलर ($1000) से ज़्यादा के लिए, जवाबदेह नहीं माना जा सकता.
    • 12.3 सीमाओं के अपवाद. जवाबदेही की सीमाएं, लागू कानून की पूरी सीमा तक लागू होती हैं, अगर कोई दूसरा पक्ष किसी पक्ष की बौद्धिक संपत्ति के अधिकारों का उल्लंघन करता है, तो नुकसान की भरपाई की जवाबदेही की सीमाएं लागू नहीं होतीं.
  • 13. विविध.
    • 13.1 सूचनाएं. जब तक यहां न बताया गया हो, तब तक, (a) सभी सूचनाएं लिखित में होनी चाहिए तथा अन्य पक्ष के कानूनी विभाग और संपर्क के प्राथमिक बिंदु को ध्यान में रखकर होना चाहिए और (b) सूचना को तब दिया गया मान लिया जाएगा: (i) जब निजी कुरियर, ओवरनाइट कुरियर से भेजे जाने पर लिखित रसीद के तहत पुष्टि की जाती है या जब रसीद के पुष्टि के बिना मेल से भेजे जाने पर हासिल किया जाता है; या (ii) जब फ़ैक्स या ईमेल से भेजे जाने पर अपने-आप रसीद या इलेक्ट्रॉनिक लॉग से पुष्टि की जाती है.
    • 13.2 असाइनमेंट. कोई भी पक्ष, अन्य पक्ष (सहयोगी को छोड़कर) की लिखित अनुमति के बिना इस कानूनी समझौते का कोई भी हिस्सा असाइन या ट्रांसफ़र नहीं कर सकता, लेकिन ऐसा सिर्फ़ तब हो सकता है, अगर: (a) असाइन करने वाला व्यक्ति लिखित में इस कानूनी समझौते की शर्तों से बाध्य होने के लिए सहमत होता है; और (b) असाइन करने वाला पक्ष, असाइनमेंट से पहले कानूनी समझौते के जवाबदेहियों के लिए उत्तरदायी बना रहेगा. ट्रांसफ़र करने या असाइन करने की कोई भी कोशिश, अमान्य मानी जाती है.
    • 13.3 कंट्रोल में बदलाव. कंट्रोल में बदलाव होने की स्थिति में (उदाहरण के लिए, स्टॉक खरीदने या बेचने, किसी दूसरे पक्ष में मर्ज होने या किसी अन्य रूप में कॉर्पोरेट लेन-देन होने पर): (a) वह पक्ष कंट्रोल में बदलाव के बाद 30 दिनों के अंदर दूसरे पक्ष को लिखित सूचना देगा; और (b) दूसरा पक्ष कंट्रोल में बदलाव और सबसेक्शन (a) में लिखित सूचना हासिल करने के 30 दिनों के बाद, कभी भी इस कानूनी समझौते को तुरंत खत्म कर सकता है.
    • 13.4 अचानक घटी घटना. कोई भी पक्ष अनुचित समझौते का पालन करने के लिए उस स्थिति की वजह से (उदाहरण के लिए, प्राकृतिक आपदा, युद्ध या आतंकी घटना, दंगे, श्रम स्थिति, सरकारी कार्रवाई, और इंटरनेट में गड़बड़ी) जवाबदेह नहीं होगा जो पक्ष के उचित कंट्रोल से बाहर की है.
    • 13.5 कोई छूट नहीं. इस कानूनी समझौते के किसी भी प्रावधान को लागू करने में विफलता के लिए कोई छूट नहीं मिलेगी.
    • 13.6 समझौता अलग-अलग हिस्सों में लागू होना. अगर इस कानूनी समझौते का कोई भी प्रावधान, कानूनी तौर पर लागू न करने लायक पाया जाता है, तो कानूनी समझौते का शेष भाग पूरी तरह लागू और प्रभावी रहेगा.
    • 13.7 कोई एजेंसी नहीं. पक्ष स्वतंत्र ठेकेदार होते हैं और इस कानूनी समझौता से किसी एजेंसी, साझेदारी या साझा कारोबार को नहीं बनाया जाता.
    • 13.8 लाभ पाने वाला तीसरे पक्ष का कोई व्यक्ति नहीं. इस कानूनी समझौते का लाभ पाने वाला तीसरे पक्ष का कोई व्यक्ति नहीं है.
    • 13.9 कोई विशेष काम करने का या करने से रोकने का आदेश. इस कानूनी समझौते का कोई भी हिस्सा, किसी भी पक्ष की कोई खास काम करने का या करने से रोकने का आदेश देने की क्षमता को सीमित नहीं करेगा.
    • 13.10 नियंत्रण करने वाला कानून. यह कानूनी समझौता, कैलिफ़ोर्निया में लागू कानून से नियंत्रित किया जाता है. इसमें उस राज्य के कानूनी नियमों के विकल्प शामिल नहीं किए जाते हैं. सभी पक्ष सहमत हैं कि इस कानूनी समझौते को लेकर या इसके दायरे से बाहर होने वाला कोई भी विवाद, सेंटा क्लारा काउंटी, कैलिफ़ोर्निया में ही निपटाया जाएगा.
    • 13.11 संशोधन. कोई भी संशोधन लिखित में होना चाहिए और उसमें यह साफ़ तौर पर बताना चाहिए कि इस कानूनी समझौते में संशोधन हो रहा है.
    • 13.12 बचा रहना. नीचे दिए गए सेक्शन इस कानूनी समझौते की अवधि खत्म हो जाने या निलंबित हो जाने पर भी बची रहेंगी: सेक्शन 6 (गोपनीयता), 7 (बौद्धिक संपत्ति, ब्रैंड सुविधाएं), 9 (प्रतिनिधि बनना, समर्थन करना, और खंंडन करना), 10 (खात्मा), 11 (नुकसान की भरपाई), 12 (जवाबदेही की सीमा), और 13 (विविध).
    • 13.13 पूरा कानूनी समझौता. यह कानूनी समझौता और यहां संदर्भित सभी दस्तावेज़, पक्षों का पूरा कानूनी समझौता है, जो इसके विषय से संबंधित है और उस विषय पर पहले हुए या किसी भी समकालीन समझौते की जगह लागू माना जाएगा. किसी यूआरएल पर दी गई शर्तें और इस कानूनी समझौते में संदर्भित शर्तें, इस संदर्भ में शामिल किया गया है.
    • 13.14 विरोधी शर्तों की जानकारी. अगर इस कानूनी समझौते को बनाने वाले दस्तावेज़ों में कोई अंतर दिखता है, तो दस्तावेज़ इस क्रम में कंट्रोल होंगे: कानूनी समझौता और किसी यूआरएल पर मौजूद शर्तें.
  • 14. परिभाषाएं.
    • "उचित इस्तेमाल की नीति". इसका मतलब सेवाओं के लिए उचित इस्तेमाल की नीति से है, जो https://workspace.google.com/intl/hi/terms/use_policy.html पर उपलब्ध है या ऐसे किसी दूसरे यूआरएल से भी इसके बारे में जानकारी मिलती है जिसे Google उपलब्ध करा सकता है.
    • "एडमिन खाता (खातों)". इसका मतलब एडमिन खाता (खातों) से है, जिसे Google, सेवाओं को एडमिन करने के मकसद से ग्राहक को उपलब्ध कराता है. एडमिन खाता (खातों) के इस्तेमाल के लिए पासवर्ड ज़रूरी होता है, जो Google, ग्राहक को उपलब्ध कराएगा.
    • "Admin Console". इसका मतलब ऑनलाइन टूल से है, जो Google, ग्राहक को रिपोर्ट करने और कुछ दूसरे एडमिन फ़ंक्शन के इस्तेमाल के लिए उपलब्ध कराता है.
    • "एडमिन". इसका मतलब ग्राहक की ओर से तय किए गए ऐसे तकनीकी व्यक्ति से है जो ग्राहक की ओर से सेवाओं का एडमिन होता है. साथ ही, जो ग्राहक के डेटा और असली उपयोगकर्ता खाते को ऐक्सेस कर सकता है.
    • "विज्ञापन". इसका मतलब है कि असली उपयोगकर्ताओं को Google की ओर से ऑनलाइन विज्ञापनों को दिखाया गया.
    • “सहयोगी (अफ़िलिएट)” का मतलब ऐसी किसी भी इकाई से है जो सीधे तौर पर या किसी इकाई पर ऐसा कंट्रोल रखती हो जिसका सीधे तौर पर पता न चलता हो, जिसे कोई पक्ष कंट्रोल करता हो या जो किसी पक्ष के सामान्य कंट्रोल के तहत काम करती हो.
    • “ब्रैंड सुविधाएं”. का मतलब हर पक्ष के ट्रेड नाम, ट्रेडमार्क, लोगो, डोमेन नाम, और किसी पक्ष की ऐसी खास ब्रैंड सुविधाओं से है जिन्हें वह पक्ष समय-समय पर सुरक्षित करता रहता है.
    • "गोपनीय जानकारी". इसका मतलब इस कानूनी समझौते के तहत एक पक्ष की ओर से किसी दूसरे पक्ष के सामने ज़ाहिर की गई ऐसी जानकारी से है, जिसे गोपनीय तौर पर मार्क किया गया हो या जो सामान्य स्थिति में गोपनीय मानी जाने वाली हो. ग्राहक का डेटा, ग्राहक की गोपनीय जानकारी है.
    • "ग्राहक डेटा". इसका मतलब उस डेटा से है जिसमें ग्राहक या असली उपयोगकर्ताओं की ओर से सेवाओं के ज़रिए उपलब्ध कराया गया, जनरेट किया गया, ट्रांसमिट किया गया या दिखाया गया ईमेल शामिल है.
    • "ग्राहक डोमेन नाम". इसका मतलब ग्राहक के मालिकाना हक या कंट्रोल वाले डोमेन नाम से है, जिसे सेवाओं के संबंध में इस्तेमाल किया जाएगा.
    • "आपातकालीन समय में सुरक्षा से जुड़ी समस्या". इसका मतलब: (a) उचित इस्तेमाल की नीति के उल्लंघन में ग्राहक के सेवाओं के इस्तेमाल, जिससे इनमें रुकावट आ सकती है: (i) सेवाओं; (ii) दूसरे ग्राहकों के सेवाओं के इस्तेमाल, या (iii) सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए इस्तेमाल किए गए Google नेटवर्क या सर्वर, (b) सेवाओं पर बिना अधिकार वाले तीसरे पक्ष का ऐक्सेस.
    • "असली उपयोगकर्ता". इसका मतलब ऐसे व्यक्ति से है जिन्हें ग्राहक, सेवाओं के इस्तेमाल की अनुमति देते हैं.
    • "असली उपयोगकर्ता खाता". इसका मतलब किसी Google-होस्ट खाते से है जिसे ग्राहक, सेवाओं के ज़रिए असली उपयोगकर्ता के लिए स्थापित करता है.
    • "एक्सपोर्ट कंट्रोल कानून”. इसका मतलब एक्सपोर्ट और दोबारा एक्सपोर्ट को कंट्रोल करने वाले ऐसे सभी लागू कानूनों या नियमों से है. इनमें अमेरिका के वाणिज्य विभाग की ओर से प्रबंधित एक्सपोर्ट एडमिनिस्ट्रेशन रेगुलेशन (“ईएआर”), अमेरिका के ट्रेज़री विभाग के विदेशी संपत्ति नियंत्रण कार्यालय की ओर से लागू किए जाने वाले व्यापारिक और आर्थिक प्रतिबंध, और अमेरिका के राज्य विभाग की ओर से नियंत्रित इंटरनेशनल ट्रैफ़िक इन आर्म्स रेगुलेशन (“आईटीएआर”) शामिल हैं.
    • "सहायता केंद्र". इसका मतलब Google के सहायता केंद्र से है, जिसे http://www.google.com/support/a, पर या ऐसे किसी दूसरे यूआरएल से भी इसे ऐक्सेस कर सकते हैं जिसे Google उपलब्ध करा सकता है.
    • "ज़्यादा जोखिम वाली गतिविधियां". इसका मतलब परमाणु सुविधाओं की गतिविधि, एयर ट्रैफ़िक कंट्रोल या लाइफ़ सपोर्ट सिस्टम से है, जहां सेवाओं के काम न कर पाने पर मौत हो सकती है, व्यक्तिगत चोट पहुंच सकती है या पर्यावरण का नुकसान हो सकता है.
    • “हिपा”. इसका मतलब स्वास्थ्य बीमा पोर्टेबिलिटी और जवाबदेही अधिनियम 1996 से है. इसे और इसके अंतर्गत जारी किसी भी नियम को समय-समय पर संशोधित किया जा सकता है.
    • "बौद्धिक संपत्ति के अधिकार". इसका मतलब पेटेंट कानून, कॉपीराइट कानून, कारोबारी गोपनीयता की सुरक्षा का कानून, ट्रेडमार्क, नैतिक अधिकार से जुड़े कानून, और मौजूदा और आने वाले दुनिया भर में इसी तरह के अन्य मालिकाना अधिकारों से है.
    • "गैर-Google Workspace प्रॉडक्ट". इसका मतलब ऐसे Google प्रॉडक्ट से है जो सेवाओं का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन असली उपयोगकर्ताओं की ओर से, अपने असली उपयोगकर्ता खाते के लॉगिन और पासवर्ड का इस्तेमाल करके ऐक्सेस किया जा सकता है. गैर-Google Workspace के प्रॉडक्ट इस यूआरएल में दिए गए हैं:http://www.google.com/support/a/bin/answer.py?hl=hi&answer=181865 या ऐसे किसी दूसरे यूआरएल से भी इसके बारे में जानकारी मिलती है जिसे Google उपलब्ध करा सकता है.
    • "गैर-Google Workspace प्रॉडक्ट की शर्तें". इसका मतलब ऐसी शर्तों से है जो इस यूआरएल: https://workspace.google.com/intl/hi/terms/additional_services.html पर बताया गया हो या ऐसे किसी दूसरे यूआरएल से भी है जिसे Google उपलब्ध करा सकता है.
    • "सूचना ईमेल पते". इसका मतलब Google से ईमेल सूचनाएं पाने के लिए ग्राहक को दिए गए ईमेल पते से है. ग्राहक, Admin Console में जाकर इस ईमेल पते को बदल सकता है.
    • "एसडीएन सूची". यह विशेष भूमिका वाले नागरिकों की अमेरिकी ट्रेज़री विभाग की सूची है.
    • "सेवा पेज". इसका मतलब ऐसे वेब पेज से है जो असली उपयोगकर्ता को सेवाएं दिखाता है.
    • "सेवाएं". इसका मतलब ऐसी सेवाएं (जैसे, Google Workspace का प्रीमियर वर्शन, Google Workspace या Google Workspace का मुफ़्त वर्शन वगैरह) जिसके बारे में यहां: https://workspace.google.com/intl/hi/terms/user_features.html अच्छे से बताया गया है या ऐसे किसी दूसरे यूआरएल से भी इसके बारे में जानकारी मिलती है जिसे Google उपलब्ध करा सकता है.
    • "निलंबित". इसका मतलब लागू होने पर, सेवाओं या सेवाओं के कॉम्पोनेंट के इस्तेमाल को रोकने के लिए, सेवाओं के ऐक्सेस को तुरंत बंद करना.
    • "अवधि". इसका मतलब कानूनी समझौते की अवधि से है, जो लागू होने की तारीख से शुरू होकर तब तक जारी रहेगी, जब तक: (i) पिछली सेवा अवधि के अंत तक या (ii) यहां दिए अनुसार कानूनी समझौते के खत्म होने के पहले तक जारी रहेगी.
    • "तीसरा पक्ष का अनुरोध". इसका मतलब असली उपयोगकर्ता के सेवाओं के इस्तेमाल से संबंधित रिकॉर्ड के लिए किसी तीसरे पक्ष के अनुरोध से है. तीसरे पक्ष के अनुरोध, कोई कानूनी तलाशी वारंट, अदालत का आदेश, पेश होने का आदेश, अन्य वैध कानूनी आदेश या असली उपयोगकर्ता की ओर से ज़ाहिर करने की अनुमति देने वाली लिखित सहमति हो सकती है.